मंत्री स्मृति ईरानी के ऊपर साहेब का गुस्सा जारी, IT मंत्रालय के बाद अब नीति आयोग से भी बाहर किया !

0
1

 

दिल्ली : भाजपा की केंद्र सरकार में सबसे प्रभावी मंत्री कही जाने वाली केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी का कद और पद दोनों ही बड़ी तेजी से घाट रहे हैं। यूँ तो स्मृति ईरानी का नाम पीएम मोदी के सबसे ख़ास मंत्रियों में लिया जाता रहा है, पर पिछले कुछ महीनों से पीएम मोदी अपनी इस ख़ास मंत्री पर कुछ नाराज नजर आ रहे हैं। बता दें कि केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी को पीएम मोदी की मंजूरी के बाद नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया (नीति आयोग) से बाहर कर दिया गया है। वह यहां विशेष आमंत्रित सदस्य थीं। उनके स्थान पर मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को विशेष आमंत्रित सदस्य बनाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर ही आयोग का पुनर्गठन किया गया था।

करीब एक महने पहले ही ईरानी से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भी ले लिया गया था। मंत्रालय बदलने के बाद भी वह इस स्थान पर बनी थीं। जावड़ेकर के अलावा केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत को भी नीति आयोग में जगह मिली है। गौरतलब है कि आज कल सोशल मीडिया और वाट्सअप पर स्मृति ईरानी को लेकर बहुत तरह की बातें और मजाक चल रहे हैं। क्या ये रिएक्शन उसी को लेकर है ?

कैबिनेट सचिवालय द्वारा अधिसूचना जारी कर आयोग में बदलाव की बात कही गई है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि हाल ही में किए गए इन बदलावों को पीएम की मंजूरी प्राप्त है। आयोग के मौजूदा उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार हैं।

बता दें कि साल 2014 में सत्ता में आने के बाद मोदी सरकार ने योजना आयोग के स्थान पर नीति आयोग की स्थापना की थी। आयोग का अध्यक्ष देश का प्रधानमंत्री ही होता है। यह फैसला 17 मई को नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक से महज 7 दिन पहले लिया गया है।

इस बैठक की अध्यक्षता स्वयं पीएम मोदी करने वाले हैं। समृति इरानी से 15 मई को सूचना मंत्रालय ले लिया गया था और उनके स्थान पर राज्य मंत्री रहे राज्यवर्धन सिंह राठौर को मंत्रालय का स्वतंत्र कार्यभार सौंप दिया गया। स्मृति इस वक्त गुजरात से राज्यसभा सांसद हैं।

Loading...