विदेशी प्लेन, विदेशी पायलट हवा में उड़ गया मेक इन इंडिया, अमेरिका से कराची के रास्ते भारत आया !

0
3

नई दिल्ली, गुजरात चुनाव के दौरान प्रचार के आखिरी दिन मंगलवार को मार्केटिंग का तगड़ा तड़का लगाया गया। गुजरात में विकास दिखाने के लिए साबरमती नदी से सी-प्लेन के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद से धरोई तक यात्रा की इस यात्रा का मकसद कहीं हद तक विकास को दिखाना था। जिसका प्रचार प्रसार केंद्रीय मंत्रियों द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए किया गया।

द क्विंट न्यूज पोर्टल में चंदन नंदी की एक रिपोर्ट आई है जिसमें दावा किया गया है कि ये प्लेन अमेरिका से कराची के रास्ते भारत आया। रिपोर्ट में स्माल एयरक्राफ्ट इंडस्ट्री के सोर्सेस के हवाले से बताया गया है कि अहमदाबाद से धरोई के बीच सीप्लेन के जरिए यात्रा का खर्च $70000 अमेरिकी डॉलर मतलब लगभग 4200000 (42 लाख) रुपए आया है। सबसे बड़ी बात यह है कि इस सीप्लेन से यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री की सुरक्षा के साथ बड़ा खिलवाड़ किया गया या यूं कहें कि प्रचार करने के चक्कर में प्रधानमंत्री की सुरक्षा को ताक पर रख दिया गया।

जिस सीप्लेन से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यात्रा की वो सिंगल इंजन वाला प्लेन था जबकि प्रोटोकॉल के तहत प्रधानमंत्री जिस प्लेन से यात्रा करते हैं वो डबल इंजन वाला होना चाहिए। यह प्रधानमंत्री की सुरक्षा में एक बहुत बड़ी चूक है।

मेक इन इंडिया का दावा करने वाले पीएम मोदी ने अमेरिका से मंगाए गए प्लेन से अमेरिकी पायलटों के साथ हवाई यात्रा की जबकि सीप्लेन भारत में 2011 से ही अंडमान निकोबार में चल रहे हैं और लोग इसकी सेवाएं ले रहे हैं। अहमदाबाद में पीएम मोदी को लेकर उड़ने वाला प्लेन 3 दिसंबर को कराची के पास था। यह प्लेन अमेरिका के उटाह Utah की क्वेस्ट एयरक्राफ्ट कंपनी के नाम पर रजिस्टर है। जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर N181KQ है।

पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए विजिट करें !

https://www.thequint.com/news/india/pm-modi-seaplane-flew-from-karachi

Loading...