PM मोदी खुद तय करें 50 दिनों के बाद किस चौराहे पर सजा दी जाए – लालू प्रसाद यादव

PM मोदी खुद तय करें 50 दिनों के बाद किस चौराहे पर सजा दी जाए - लालू प्रसाद यादव

नोएडा, अच्छे दिन का सपना दिखा कर सत्ता में आई मोई सरकार के लिए अच्छेdin का नारा गले की फांस बन गया था अच्छे दिन के नारे से देश की जनता का ध्यान हटाने के लिए कई तरह के प्रयोग किये गयी। कभी सर्जिकल स्ट्राइक कभी डेमोनेटाइज़ेशन ‘नोटबंदी’।

अच्छे दिन वाले नारे की तरह जनता से मांगे गए 50 दिन अब मोदी सरकार के लिए गले की फांस बन गया है जो अच्छे दिन वाले नारे की ही तरह भाजपा पर भारी पड़ने जा रहा है। हालांकि अभी नोटबंदी के 50 दिन पूरे होने में कुछ समय शेष हैं लेकिन लोग उनके बयान को दोहराने लगे हैं। सोशल मीडिया पर लोग पोस्ट डाल रहे हैं।

इसी क्रम में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने भी पीएम के वादे को पूरा करने के लिए खुद ही चौराहा तय करने के लिए कहा है। सोमवार को लालू यादव ने पीएम मोदी से सीधा सवाल किया कि उन्हें किस चौराहे पर सजा देनी चाहिए? दरअसल, नोटबंदी के बाद 13 नवंबर को गोवा में एक कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने कहा था कि 50 दिनों में स्थिति नहीं सुधरी तो उन्हें जो भी सजा दी जाएगी, वह उसे स्वीकार करेंगे।

पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद यादव ने शिवसेना के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि शिवसेना ने उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर बिल्कुल सही बयान दिया है। शिवसेना ने भाजपा को नसीहत देते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर बीजेपी मदमस्त हाथी नहीं बने। उत्तर प्रदेश का इतिहास रहा है कि जब-जब सत्ताधारी मस्ती में आए हैं, जनता ने तब-तब उन्हें सिंहासन से उतार फेंका है।

लालू ने कहा, ‘शिवसेना ठीक कह रही है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में एसपी फिर विजयी होगी और बीजेपी प्रदेश में कहीं नहीं दिखेगी।’ उल्लेखनीय है कि नोटबंदी के विरोध में आरजेडी ने राज्य के सभी जिला मुख्यालयों में 28 दिसंबर को महाधरना देने की घोषणा की है।

दरअसल नोटबंदी के बाद पीएम मोदी जापान यात्रा पर गए थे। वहां से लौटने के बाद उन्होंने गोवा में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि मैंने देश से 50 दिन मांगे हैं। 50 दिन, यानि 30 दिसंबर के बाद मेरी कोई कमी रह जाए, कोई गलती निकल जाए या गलत इरादा निकल जाए तो आप जिस चौराहे पर खड़ा करेंगे, मैं खड़ा होकर देश जो सजा करेगा वो भुगतने को तैयार हूं।