ठाकुर SO ने महिला को रात बिताने के लिए थाने बुलाया, पंडित SSP बोले – ये कोई हूर की परी नहीं है जो..

0
16198

शाहजहांपुर, उत्तर प्रदेश में महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान देने के मुद्दे पर भाजपा ने 2017 का विधानसभा चुनाव लड़ा और बम्पर जीत हासिल की। यूपी में भाजपा सरकार बनते ही हवा हवाई वादे किए गए और बिना तैयारी के एन्टी रोमियो स्क्वाड बनाया गया। जो चार दिन की चांदनी फिर वही अंधेरी रात जैसा जुमला साबित हो गया। खबर आ रही है कि शाहजहांपुर में एक युवती थाने मदद के लिए पहुंची तो थानेदार ने मदद करने क्व बजाय महिला से ही रात बिताने की बात कर दी।

जानकारी के मुताबिक शाहजहांपुर में एक युवती ने थानाध्यक्ष पर जो आरोप लगाए हैं वो बेहद ही गंभीर है। यहां एक थानेदार ही रोमियो बना हुआ है। चर्चा इस तरह की भी है कि जिले का एक पुलिस अधिकारी उसकी पैरवी में जुटा हुआ है। वहीं पीड़ित युवती ने अब यूपी के सीएम से अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई है। जिससे अब ये साफ़ है कि प्रदेश में महिलाएं अब भी सुरक्षित नहीं है।

रिपोर्ट के मुताबिक थाना मिर्जापुर की रहने वाली एक महिला का घरेलू बंटवारे को लेकर जेठ नन्हे सिंह से विवाद है। जेठ नन्हे सिंह अपनी मर्जी से बंटबारा करना चाहते हैं। इसकी शिकायत जब महिला ने मिर्जापुर थाने के थानाध्यक्ष धनंजय सिंह से की तो धनंजय सिंह ने महिला से रात में आने को कहा।

महिला का आरोप है कि थानाध्यक्ष ने उससे कहा कि रात को आना मैं तुम्हारा सारा काम करा दूंगा। डरी सहमी महिला गुरुवार को थानाध्यक्ष की शिकायत लेकर पुलिस के आलाधिकारियों से मिली। महिला ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम भी एक चिठ्ठी लिखी है, जिसमें आरोपी थानाध्यक्ष धनंजय सिंह से अपनी इज्जत बचाने की गुहार लगाई है।

एएसपी का हैरान करने वाला जवाब

ख़ास बात ये है कि इस मामले में जब पुलिस अधीक्षक दफ्तर में बैठे अपर पुलिस अधीक्षक दिनेश त्रिपाठी से पूछा गय़ा तो उन्होंने हैरान करने वाला जवाब दिया। पुलिस अधीक्षक दिनेश त्रिपाठी ने कहा कि ‘ये महिला कोई हूर की परी नहीं है जो हमारा थानाध्यक्ष इसे रात को बुलाएगा।’ वहीं अब पीड़ित महिला को डर है कि उसके साथ कभी भी कोइ अनहोनी हो सकती है।

Loading...