NEET बना जंजाल, अनियमितताओं को लेकर उच्चतम न्यायालय जाने की तैयारी !

0
166
Loading...

देश भर में मेडिकल प्रवेश के लिए होने वाली एक मात्र परीक्षा NEET का विवादों से रिश्ता गहराता ही जा रहा है, हर रोज कुछ न कुछ नये खुलासे हो रहे है,बिहार,यूपी, राजस्थान, दिल्ली,गोआ,बँगाल, सहित कई प्रदेशों से लीक की खबरें रोज आ रही है।

इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट के आदेश जिसमे One nation one exam का साफ साफ आदेश है,का खुला उल्लंघन हुआ कुल 11 क्षेत्रीय भाषाओं में पेपर दिये गये, एक ही राज्य में क्षेत्रीय भाषा का पेपर अलग तथा अंग्रेजी का अलग था, इसी बीच एक नई खबर तमिलनाडु से आरही है, जिसमे ये कहा गया है कि वहाँ के कुछ स्कूल वालो को ये बात मालूम थी कि तमिल माध्यम का पेपर आसान आयेगा इसलिए उन स्कूलों ने अपने विद्यार्थियों से डॉक्यूमेंट ले लिए और खुद ही फार्म भरे जिसमे उन्होंने परीक्षा का माध्यम तमिल लिया, तमिल पेपर में सारे सवाल या तो पुराने थे,या सीधे पूछे गये थे,सक और भी गहरा हुआ जब पता चला कि लगभग 85000 अभियर्थियों में से केवल 2500 ने ही तमिल माध्यम को चुना था।

इन्हीं सब विषंगतियों को लेकर संकल्प चेरिटेबल ट्रस्ट जो कि मेडिकल से जुड़े अधिकतर मामले को उठाता रहता है, ने आज सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कही, ये जानकारी संकल्प ट्रस्ट के पवन कुमार ने दी।

Loading...