PM मोदी का ‘रेड कारपेट’ गुजरात में हुआ आग के हवाले, पद्मावत के विरोध में मॉल वा 50 गाड़ियाँ फूंकी गयीं !

0
0

अहमदाबाद : प्रधानमंत्री मोदी जहाँ दावोस में निवेशकों की सुरक्षा और संसाधनों को लेकर बड़ी-बड़ी बातें कर रहे थे, वहीँ पीएम मोदी के गृह राज्य गुजरात के अहमदाबाद में हिन्दू “कट्टरवादियों” ने एक मॉल में आग लगा दी है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिलने के बाद भी संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत को लेकर मचा बवाल अभी थमता नहीं दिख रहा है। फिल्म की रिलीज से दो दिन पहले अहमदाबाद में इसको लेकर जमकर बवाल हुआ, शहर के एक मॉल को आग के हवाले कर दिया। उपद्रवियों को रोकने के लिए पुलिस को कई राउंड फायरिंग करनी पड़ी।

हिन्दू कट्टरवाद की आग में झुलसता भारत !

उपद्रवियों की भीड़ ने सड़क पर चलते वाहनों को भी निशाना बनाया और 50 से ज्यादा वाहनों में आग लगा दी। हिमालयन मॉल के अंदर भी आग से काफी नुकसान हुआ है। खास बात ये है कि मॉल में पद्मावत फिल्म ना दिखाने का बोर्ड लगाया हुआ था, बावजूद उसके उपद्रवियों ने जमकर बवाल काटा।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सैकडों की संख्या में लोग वहां पहुंचे और आते ही तोड़फोड़ शुरू कर दी, इसके चलते वहां भगदड़ के हालात हो गए। जानकारी के अनुसार यह सारी घटना पुलिस की मौजूदगी में हुई, लेकिन इस दौरान उसने कोई कार्रवाई नहीं की। मॉल से निकलकर उपद्रवी सड़कों पर आ गए और राह चलते वाहनों को निशाना बनाया।

लोगों के अनुसार बवाल करने वाले लोग करणी सेना के कार्यकर्ता थे, जो फिल्म के विरोध में नारे लगा रहे थे। वहीं पुलिस का कहना है कि आरोपियों की पहचान कर ली गई है सभी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

दावोस में किये प्रधानमंत्री मोदी के खोखले दावों की खुली पोल !

प्रधानमंत्री मोदी ने दावोस में विश्व के प्रमुख उद्योगपतियों के समक्ष बोलते हुए कहा कि भारत व्यापार के लिए मुफीद है और हमने आपके लिए रेड टेप को हटकर रेड कार्पेट बिछाया है, आप लोग आये और भारत में निवेश करें। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम आपको सुरक्षा और अन्य संसाधन उपलब्ध कराएँगे। गौरतलब है कि इसके उलट देश में तो अलग ही अराजकता के हालात हैं यहाँ एक फिल्म का विरोध करने वाले मुठी पर लोगों को तो सरकार संभाल नहीं पा रही है, जिसके कारण उन्होंने अहमदाबाद के एक मॉल में आग लगाने के साथ बाहर कड़ी 50 गाड़ियों में भी आग लगा दी। गौरतलब है कि भारत भी अपने पडोसी पाकिस्तान के नक़्शे कदम पर है बस अंतर इतना है कि वहां भी पहले मुस्लिम कट्टरवाद को बढ़ावा दिया गया था और आज उसी तर्ज पर भारत में हिन्दू कट्टरवाद को बढावा दिया जा रहा है। जबकि कट्टरवादियों के जहर से पाकिस्तान के आज क्या हालात हैं ये पूरा विश्व जानता है।

 

Loading...