योगी का गुंडाराज – इलाहाबाद में पुलिस मुख्यालय के सामने पूर्व DIG के बेटे की हत्या,पत्नी घायल !

0
421
Loading...

इलाहाबाद : उत्तर प्रदेश की नयी-नवेली योगी सरकार में अपराधी इस कदर बेख़ौफ़ हैं कि वो किसी भी व्यक्ति को किसी भी जगह पर गोली मार दे रहे हैं,इलाहाबाद की सबसे पॉश कॉलोनी में से एक सिविल लाइन्स में कुछ बदमाशों ने एजी आफिस के सामने एवं पुलिस मुख्यालय के बगल में एक नौजवान युवक की कार के अंदर घुसकर बड़े ही बेरहमी से गोली मार कर हत्या कर दी और फरार हो गए। वहीँ मृतक की पत्नी ने मीडिया के सामने मुख्यमंत्री योगी जी से रोते हुए पूछा कि ये कैसा गुंडाराज है आपका, जहाँ जो चाहे जब चाहे किसी को भी मार देता है,मेरे पति तो सिर्फ खाना लेने गए थे और उन लोगों ने मेरे पति को मेरी आँखों के सामने ही मार दिया।

सिविल लाइन थाना क्षेत्र के सरोजनी नायडू मार्ग पर एजी ऑफिस के सामने रिटायर डीआईजी स्टांप त्रिलोचन सिंह के बेटे धीरज सिंह (36) की गोली मारकर हत्या कर दी गई। धीरज सिंह एडीए और पीडब्लडी में ठेकेदारी करते थे। गुरुवार रात करीब 11 बजे एजी आफिस चौराहे के निकट उनकी कार पर बाइक सवारों ने हमला बोल दिया। बदमाशों ने दो गोली मारी। एक गोली सीने में लगते ही धीरज जमीन पर गिर पड़े। हमलावरों ने कार का शीशा तोड़ा और चाबी निकालने का प्रयास किया। आसपास के लोग पकड़ने को दौड़े तो हमलावर पैदल ही राजापुर की ओर भाग गए। हमले में पत्नी अन्नू उर्फ निधि दाहिने कंधे पर छर्रा लगने से जख्मी हैं। आसपास के लोगों के साथ खून से लथपथ पति को उपचार के लिए पास में खड़े ई रिक्शा से एक निजी अस्पताल लेकर गईं, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया ।

मूलरुप से प्रतापगढ़ जिले के राजगढ़ के रहने वाले स्वर्गीय त्रिलोचन सिंह के तीन बेटों में सबसे छोटे धीरज सिंह की पांच साल पहले निधि उर्फ अन्नू के साथ शादी हुई थी। वह पत्नी के साथ अल्लापुर के बाघम्बरी मेेें रहते थे। एक भाई का सिविल लाइंस में रेस्टोरेंट हैं जबकि दूसरे भाई सुल्तानपुर के रजिस्ट्री आफिस में हैं। वह गुरुवार रात पत्नी के साथ कार से घर लौट रहे थे। रास्ते में एजी आफिस सामने एवं पुलिस मुख्यालय के बराबर हरीश ढाबे से धीरज ने खाना पैक कराया। जैसे ही वह कार के पास पहुंचे कि हत्यारों में से एक ने उनके नजदीक पहुंचकर सीने से सटाकर गोली चला दी। गोली लगते ही वह लहूलुहान होकर गिर गए। हमलावरों ने कार का शीशा तोड़कर चाबी निकालने का प्रयास किया। गोली चलने की आवाज सुनकर आसपास के लोग घटना स्थल की ओर दौड़े तो एक हमलावर पैदल ही राजापुर की ओर भाग निकला। दूसरे का पता नहीं चल सका।

निधि उर्फ अन्नू खून से लथपथ धीरज को ई-रिक्शा से निजी अस्पताल ले गई। खबर मिलते ही थाना सिविल लाइंस पुलिस भी निजी अस्पताल पहुंच गई। यह खबर रिश्तेदारों को भी दी गई तो वह भी आ गए। यहां धीरज को लेकर परिजन संतुष्ट नहीं हुए तो रिश्तेदार अपनी कार से एसआरएन ले गए। यहां पर भी चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। फिर भी पत्नी और परिजन नहीं माने और धीरज को जार्ज टाउन स्थित पार्वती अस्पताल ले गए। यहां भी डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया तो लाउदर रोड स्थित एक अन्य नर्सिंग होम ले गए। यहां भी डॉक्टरों ने जवाब दे दिया। यहां से पुलिस धीरज के शव को पोस्टमार्टम के लिए एसआरएन लायी । थाना प्रभारी मनोज तिवारी के अनुसार हत्या के कारण के बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता, जांच की जा रही है।

Loading...