भाजपा के रामराज्य में भड़का दंगा, दंगाइयों ने पुलिस वालों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा !

0
68

जयपुर, भारतीय जनता पार्टी सुशासन का दावा करती है जबकि हकीकत इसके विपरीत है। राजस्थान की वसुंधरा सरकार हिंसा रोकने में नाकाम हो रही है इस बार तो भीड़तंत्र ने पुलिस वालों को ही अपना शिकार बना डाला और पथराव करके कई पुलिस वालों के सर फोड़ डाले। राजस्थान के जयपुर में दंगा भड़कने से कई पुलिस वालों को चोटें आईं हैं और एक व्यक्ति की मौत की भी खबर है।

शहर के रामगंज थान क्षेत्र में शुक्रवार देर रात दंगा भड़कने के बाद रामगंज समेत चार इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। जानकारी के मुताबिक मामूली बात को लेकर शुक्रवार को यहां स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच झड़प हो गई जिसके बाद बलवाइयों ने कई वाहनों में आग लगा दी। भीड़ ने पावर हाउस को भी आग के हवाले कर दिया और कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की। इसके बाद यहां तनाव की स्थिति को देखते हुए मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं और कर्फ्यू लगा दिया गया है।

भाजपा शाषित राजस्थान के जयपुर शहर में पुलिस द्वारा अतिक्रमण हटवाने के दौरान बाइक सवार कपल को डंडा लग जाने से पुलिस के साथ कहासुनी होने लगी जो बाद में हिंसा में बदल गयी। गुस्साई भीड़ ने पुलिस वालों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा और मार मारकर सर तक फोड़ डाला। यही नहीं गुस्साई भीड़ ने थाने में भी घुसने की कोशिश की। बवाल के दौरान कई पुलिस वाले घायल हो गए और 1 व्यक्ति की मौत की भी खबर है। भीड़ ने कई पुलिस के वाहनों के साथ अन्य को भी नुकसान पहुंचाया।

रामगंज में वाहनों को आग के हवाले की खबर के तुरंत बाद वहां दमकल की पांच गाड़ियां पहुंच गईं। जल्द ही आग बुझाने का काम शुरू कर दिया गया लेकिन तब तक वाहन जलकर खाक हो चुके थे। वहीं पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल मौके पर पहुंचे और लोगों से शांति की अपील की।

थाने का घेराव करने के बाद उग्र भीड़ ने आगजनी और पथराव शुरू कर दिया तो पुलिस के हाथ पांव फूल गए। आनन-फानन में भीड़ को वहां से हटाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। भीड़ को खदेड़ने के लिए हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा लेकिन तब तक पुलिस के कई जवान पत्थरबाजों के हाथों जख्मी हो चुके थे।

 

मोदी सरकार का असली चेहरा – सुप्रीम कोर्ट में बोली नाबालिग पत्नी के साथ जबरन यौन संबंध जुर्म नहीं !

Loading...