सपा सांसद के दामाद के घर पर पड़ी डकैती, देखें कहां का हैं मामला !

0
6

कानपुर, समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सांसद सुखराम सिंह यादव के दामाद एवं दक्षिण अफ्रीका में भारतीय काउंसलर शशांक विक्रम सिंह के डरबन स्थित घर पर हथियार बन्द बदमाशों ने दिन दहाड़े डाका डाला। जिस समय डकैती पड़ी उस समय सांसद पुत्री डॉ मेघा यादव अपने बच्चे के साथ घर पर ही मौजूद थीं।

देखें वीडियो !

भारत के कॉन्सल-जनरल के घर पर आठ हथियार बंद डकैतों ने बोला हमला, यह डकैत दिन-दहाड़े घर का ताला तोड़कर अंदर घुसे थे। स्थानीय पुलिस इस डकैती के मामले की जांच कर रही है।

बता दें कि साउथ अफ्रीका के डरबन में भारतीय कॉन्सल-जनरल डॉ शशांक विक्रम की पत्नी डॉ मेघा यादव अपने पांच वर्षीय बेटे के साथ घर पर ही थी, जब गुरुवार दोपहर को लगभग 16:15 बजे यह डकैत बेरी के इन्नस रोड स्थित इनके घर का ताला तोड़ कर अंदर घुस आये। घर में घुसे डकैतों के इरादे बहुत खतरनाक थे क्योंकि हर डकैत के हाथ में खतरनाक हथियार मौजूद थे।

देश के इतिहास में पहली बार किसी भारतीय राजनयिक के साथ हुई ऐसी खौफनाक घटना !

लेफ्टिनेंट कर्नल थुलानी ज़वेने के अनुसार – 36 वर्षीय भारतीय कॉन्सल-जनरल डॉ शशांक विक्रम की पत्नी डॉ मेघा यादव और उनका 5 वर्षीय बेटा अपने निवास स्थान पर ही थे, जब कुछ अज्ञात संदिग्ध डकैतों ने घर के अंदर से लगे हुए ताले को तोड़कर घर में प्रवेश किया। पीड़ित डॉ मेघा यादव ने अपने पति डॉ शशांक विक्रम के घर पर मौजूद न होने के बाद भी गजब की होशियारी और बहादुरी को दिखाते हुए घर में लगे एक इमरजेंसी बटन को तत्काल सक्रिय कर दिया और बेडरूम में खुद को बंद कर लिया । डॉ शशांक विक्रम अपने परिवार के साथ लगभग पिछले एक साल से भी ज्यादा समय से डरबन में रह रहे हैं, उनके अनुसार पुलिस और अन्य सुरक्षा गार्डों के मौके पर पहुँचने के पहले ही चोर वहां से भाग गए।

हालाँकि ये खूंखार डकैत घर से कुछ कीमती गहने ही ले जा पाने में सफल हुए हैं।

वैसे तो विदेशों में भारतीय पर हमलों के कई मामलें सामने आये हैं पर किसी भारतीय राजनयिक के साथ या उसके घर पर दिनदहाड़े हमला होने का यह अपनी तरह का पहला मामला है।

यूपी के कानपुर के रहने वाले हैं भारत के कॉन्सल-जनरल

साउथ अफ्रीका के डरबन में भारतीय उच्चायोग में कॉन्सल-जनरल के पद पर तैनात डॉ शशांक विक्रम सिंह यूपी के कानपुर के रहने वाले हैं। डॉ शशांक विक्रम अपनी डॉक्टर पत्नी डॉ मेघा यादव और 5 वर्षीय बेटे के साथ डरबन में रहते हैं, हालांकि इस घटना के दौरान डॉ शशांक विक्रम सिंह घर पर मौजूद नहीं थे। वह उस समय भारतीय कंसुलेट में ही थे, डकैतों के घर में दाखिल होने के समय पर उनकी पत्नी और 5 वर्षीय बेटा ही घर पर मौजूद था । डॉ शशांक विक्रम सिंह के ससुर चौधरी सुखराम सिंह यादव जी समाजवादी पार्टी से राज्य सभा सांसद हैं।

डॉ शशांक विक्रम यादव डरबन आने से पहले यूपी सरकार में (2013-2016) के बीच प्रतिनियुक्ति पर आकर कार्य कर रहे थे, इस दौरान उन्होंने यहाँ कई महत्वपूर्ण पदों पर रहकर कार्य किया, जिसमे विशेष सचिव – स्वास्थय एवं परिवार कल्याण,पर्यटन विभाग आदि हैं।

Loading...