कांस्‍य जीतकर रचा इतिहास, ओलम्पिक मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनीं साक्षी मलिक

कांस्‍य जीतकर रचा इतिहास, ओलम्पिक मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनीं साक्षी मलिक

भारत का ओलंपिक 2016 में पदको का सूखा खत्म करते हुए साक्षी मलिक ने 58 किग्रा भारवर्ग फ्रीस्टाइल कुश्‍ती में कांस्‍य पदक हासिल कर इतिहास रच दिया है।

कांस्‍य पदक जीतने के साथ ही रियो ओलंपिक में भारत के लिए पदक जीतने वाली पहली भारतीय भी बन गई हैं। उन्‍होंने कांस्‍य पदक के लिए प्‍ले ऑफ मुकाबले में जुझारू प्रदर्शन करते हुए किर्गिस्‍तान की पहलवान एसुलू तिनिवेकोवा को हराकर पदक जीता।

साक्षी की जीत के साथ ही रियो ओलंपिक में भारतीय खेमें में 11 दिनों से जारी मेडल का इंतजार भी खत्‍म हुआ और साथ ही साक्षी ओलंपिक में कांस्‍य जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनीं।

इस जीत के साथ ही साक्षी ओलंपिक मेडल हासिल करने वाली चौथी भारतीय महिला एथलीट हो गई हैं। इससे पहले कर्णम मल्‍लेश्‍वरी, मैरी कॉम और साइना नेहवाल ने ओलिंपिक में मेडल हासिल किए हैं।

इस मैच के पहले हाफ में वह किर्गिस्‍तान की पहलवान एसुलू तिनिवेकोवा से 0-5 से पिछड़ गईं। दूसरे हाफ में शुरुआत में पिछड़ने के बाद साक्षी ने जबर्दस्‍त वापसी की और 8-5 से दूसरा सेट जीतकर कांस्‍य पदक जीतने में कामयाब हुईं और भारत की झोली में पदक डाला।