2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटी सपा, साइकिल को रफ्तार देने के लिए बनाई यह रणनीति !

0
2

कानपुर, 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं को एकजुट करके चुनाव के लिए तैयार कर रही है। समाजवादी पार्टी अब आंदोलन के जरिए पारी को धार देने का काम करेगी जिसके लिए 27 जनवरी को प्रदेश भर की तहसील में अन्ना आंदोलन के जरिए कार्यकर्ताओं को एकसाथ लाकर किसानों के मुद्दे पर प्रदेश की योगी सरकार को घेरेगी।

कानपुर में समाजवादी पार्टी नए जिला अध्यक्षों के नेतृत्व में 27 जनवरी को होने वाले अन्ना आंदोलन के लिए हुंकार भरेगी। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आदेश के बाद सपाईयों ने शहर भर में आंदोलन को धार देने के लिए होर्डिंग्स और बैनर लगवा दिए हैं, जिसके जरिए कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर इस मुहिम में लग जाने की अपील की गई है।

सपा ग्रामीण अध्यक्ष राघवेंद्र सिंह यादव ने बताया कि सपा कार्यकर्ता गणतंत्र दिवस के दूसरे दिन सड़क पर उतरेंगे और आवारा मवेशियों को पकड़ कर भाजपा नेताओं के घर के बाहर छोड़ेंगे। साथ ही आमजनता को इनसे मुक्ति दिलाए जाने की मांग करेंगे।

समाजवादी पार्टी 27 जनवरी से अन्ना आंदोलन का आगाज करने जा रही है। जिसके तहत पूरे शहर में आंदोलन को धार देने के लिए होर्डिग्स और बैनरों से पाट दिया गया है। सपा कार्यकर्ताओं को पार्टी हाईकामान की तरफ से आदेश मिला है कि वह शहर के लोगों के साथ ही किसनों को आवारा मवेशियों से मुक्ति दिलाने के लिए सड़क पर उतरें और इन्हें सत्ताधारी दल के नेताओं के घर के बाहर छोड़ कर आएं।

सपा ग्रामीण अध्यक्ष राघवेंद्र सिंह ने बताया कि पिछले दस महीने के दौरान आवारा मवेशियों के सैकड़ों किसानों की खड़ी फसलों को आवारा मवेशी बर्बाद कर रहे हैं। किसान शिकायत लेकर शासन-प्रशासन के पास जाते हैं तो उनकी फरियाद वह नहीं सुनते। 27 जनवरी को सुबह 10 बजे हम अपने समर्थकों के साथ बिठूर विधायक अभिजीत सिंह सांगा के घर के बाहर मवेशियों को छोड़कर आएंगे और इन बेजुबानों के लिए छत की मांग करेंगे।

सपा जिला अध्यक्ष ने कहा कि आवारा मवेशी रात हो या दिन सड़क पर घमाचौकड़ी लगाते रहते हैं। जिसके चलते हररोज दर्जनों लोग घायल हो रहे हैं। आवारा मवेशियों ने एक माह के दौरान आधा दर्जन लोगों को मौत के घाट उतार दिया है। योगी सरकार और उनका प्रशासन आंख बंद किए बैठा है। सपाई अब इन्हें जगाने के लिए निकलेंगे और जनता के मुद्दों को लेकर सत्ताधारी दल के नेताओं के पास लेकर जाएंगे।

राघवेंद्र ने बताया कि पूरा आंदोलन अहिंसा पूर्वक चलेगा। अगर पुलिस हमारे कार्यकर्ताओं को अरेस्ट करती है तो हम जेल जाने में भी पीछे नहीं हटेगे। सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के नेता गाय, गंगा और अन्नदाताओं की हर वक्त बात करते हैं, लेकिन तीनों रो रहे हैं। गंगा का जल प्रदूषित है तो गाय भूख के चलते बिलख रही है, वहीं किसान अन्ना मवेशियों का शिकार हो रहे हैं।

सपा अध्यक्ष राघवेंद्र ने बताया कि 27 जनवरी को कानपुर नगर के दोनों विधायक इरफान सोलंकी और अमिताभ बाजपेयी के अलावा पार्टी के पूर्व विधायक, उम्मीदवार और सैकड़ों कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट परिसर में आवरा मवेशी लेकर जाएंगे और डीएम को भेंट करेंगे, ताकि उनके कानों पर जूं रेंगे और किसानों को राहत मिले।

बिठूर के पूर्व विधायक मुनींद्र शुक्ला ने कहा कि वह नरवल तहसील में छुट्टा जानवरों को लेकर आएंगे और प्रशासन को सौंप देंगे। पूर्व विधायक ने बताया कि बिठूर के किसान आवारा मवेशियों के चलते परेशान है। मवेशी किसानों की फसलें बर्बाद कर रहे हैं। किसान जब इसकी शिकायत जनप्रतिनिधियों के साथ ही प्रशासन के अधिकारियों से करते हैं तो वह आश्वासन देकर उन्हें टरका देते हैं। जिलाध्यक्ष राघवेंद्र सिंह यादव ने भाजपा सरकार की नीतियों के खिलाफ 27 को सभी सपाइयों से एकजुट होकर प्रदर्शन करने को कहा।

अभी – अभी चारा घोटाले के एक और मामले लालू प्रसाद दोषी करार, जगन्नाथ मिश्र को……… !

Loading...