जिस महताब आलम को पूरे कानपुर की पुलिस ना खोज पायी, उसे खोज निकाला शिवपाल यादव ने !

0
73
Loading...

कानपुर : जाजमऊ इलाके में एक फरवरी को जो निर्माणाधीन बिल्डिंग ढ़ही थी, उसके मालिक महताब आलम हैं। हालाँकि कानपुर विकास प्राधिकरण ने महताब और दो ठेकेदारों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या समेत कई संगीन धाराओं में चकेरी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। महताब के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी हुआ था,वहीं हादसे के बाद से महताब फरार है।

सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हुई है जिसमें सपा नेता महताब आलम बेड पर दीवार के सहारे बैठें है और शिवपाल कुर्सी पर बैठकर उनसे बातचीत कर रहे हैं। हालांकि जिस शख्स ने अपनी फेसबुक वॉल पर ये फोटो शेयर किया है वह खुद सपा नेता है। फोटो को शेयर करते हुए लिखा गया कि – पैर की सर्जरी के बाद महताब आलम का हाल जानने पहुंचे विकास पुरुष शिवपाल सिंह यादव, लगभग 45 मिनट बंद कमरे में दोनों की हुई बातचीत। गौरतलब है कि कानपुर के जाजमऊ में ढाई महीने पहले निर्माणाधीन इमारत ढहने से हुई 10 लोगों की मौत के आरोपी सपा नेता महताब आलम के घर बुधवार को शिवपाल सिंह यादव सार्वजनिक रूप से पहुंचे थे।

जाजमऊ इलाके में एक फरवरी को ढही निर्माणाधीन बिल्डिंग महताब आलम की थी। हादसे के बाद से महताब फरार हैं। महताब के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी हुआ था, इसके बाद से महताब आलम फरार हैं । इस बीच यह बात भी सामने आई कि वह पश्चिम बंगाल भाग गये हैं । इस पर पुलिस की एक टीम वहां भेजी गई लेकिन वह नहीं मिले। हालाँकि बीस दिन पहले ही महताब ने कोर्ट से गिरफ्तारी पर स्टे ऑर्डर ले लिया था और पैर की सर्जरी के कारण अब तक सरेंडर नहीं किया है।