शिवपाल जा रहे थे पार्टी बनाने, मुलायम ने चला ये दांव, शिवपाल अब क्या करेंगे, जानें क्या है मुलायम का दांव

0
15
Loading...

लखनऊ, शुक्रवार को शिवपाल यादव ने सेक्युलर मोर्चा बनाने की घोषणा की थी और कहा था कि मुलायम सिंह यादव इसके अध्यक्ष होंगे। शिवपाल ने यह भी कहा था कि वे मुलायम सिंह से बात करने के बाद इसकी घोषणा कर रहे हैं। शिवपाल के नया सेकुलर मोर्चा बनाने का ऐलान करने एक दिन बाद मुलायम सिंह यादव कुछ और ही कह रहे हैं।

समाजवादी पार्टी के संस्थापक नेता मुलायम सिंह यादव ने शनिवार को कहा कि शिवपाल सिंह यादव ने ऑल इंडिया सेक्युलर मोर्चे की घोषणा से पहले उनसे बात नहीं की थी। एक अखबार को दिए इंटरव्यू में में पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह ने कहा कि वह शिवपाल से बात करेंगे और उन्हें मनाएंगे। परिवार का कोई भी सदस्य 25 साल पुरानी समाजवादी पार्टी में दरार नहीं चाहता है।

यहां नेता जी ने कहा कि मैं पिछले एक सप्ताह से शिवपाल से नहीं मिला हूं और उन्होंने मोर्चे के बारे में मुझसे बात भी नहीं की है। मैं उनसे बात करूंगा। कहा कि शिवपाल ने मोर्चे के बारे में एक साधारण सा बयान दिया है। मैं उनसे बात करूंगा और मनाऊंगा। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रहे शिवपाल ने शुक्रवार को नए मोर्चे के गठन की घोषणा की थी।

उन्होंने बताया था कि इस मोर्चे का गठन तीन महीनों के अंदर हो जाएगा। इसकी अगुवाई मुलायम सिंह यादव करेंगे। हालांकि शिवपाल ने यह साफ नहीं किया था कि वे समाजवादी पार्टी को छोड़ देंगे या फिर नया मोर्चा चुनावी राजनीति में प्रवेश करेगा। वहीं नए मोर्चे के गठन को चाचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश के बीच नए घमासान के रूप में देखा जा रहा है। लेकिन मुलायम ने पार्टी में बिखराव की किसी भी संभावना को सिरे से नकार दिया है।

उन्होंने कहा कि परिवार और पार्टी में कोई भी बिखराव नहीं चाहता है। पार्टी को बांटकर और कमजोर करके उन्हें कुछ नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि शिवपाल की भावनाएं आहत हुई हैं। मुझे नहीं पता है कि मेरा बेटा अखिलेश अपने चाचा को क्यों पसंद नहीं करता है। मैं हमेशा अपने भाई के लिए खड़ा रहूंगा क्योंकि उसने हमेशा मेरे लिए संघर्ष किया है और परेशानी झेली है।