बड़ी खबर – शिवपाल यादव बेटे आदित्य संग मिले सीएम योगी से, बीजेपी में हो सकते हैं शामिल !

0
51
Loading...

लखनऊ : समाजवादी के वरिष्ठ नेता और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके 5 कालिदास रोड स्थ‍ित मुख्यमंत्री आवास पर मुलाकात की इस दौरान उनके पुत्र आदित्य यादव भी साथ रहे। शिवपाल और CM योगी की मुलाकात को लेकर राजनीतिक गलियारों में चर्चा जोरों  पर है।

राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है कि शिवपाल यादव और बीजेपी में से कोई भी एक दूसरे में इंटरेस्टेड है तो फिर कथित रिवर फ्रंट जैसे घोटाले से शिवपाल बच सकते हैं। अखिलेश सरकार में यूपी के दो जरूरी विभाग सिंचाई और पीडब्ल्यूडी शिवपाल के ही पास थे। इन्हीं की निगरानी में रिवर फ्रंट और कई बड़ी सड़कों का काम शुरू हुआ था, जिसकी अब जांच शुरू हो रही है। ऐसे में अगर बीजेपी और शिवपाल की नजदीकियां बढ़ती हैं तो जांच के दायरे से वह बाहर हो सकते हैं।

हाल के समय में घटे घटनाक्रम से सभी जानते हैं कि जब तक समाजवादी पार्टी अखिलेश यादव के हाथ में है, तब तक शिवपाल यादव के उभरने की संभावनाएं कम हैं। इसकी वजह ये है कि जरूरी मौकों पर मुलायम भी उनका साथ छोड़ते नजर आए हैं। वहीं, बसपा में भी उनके लिए कोई संभावनाएं नहीं है।

सूत्रों के मुताबिक शिवपाल के पास लोकदल का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का प्रस्ताव तो है, लेकिन यूपी में पार्टी का कोई अस्तित्व नहीं बचा है। यही नही शिवपाल को अपने बेटे आदित्य का भविष्य भी सुरक्षित करना है। इस लिहाज से भी उनके लिए बीजेपी का ऑप्शन उनके लिए बेहतर साबित होगा।

दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी के 2019 चुनाव जीतने के प्लान में पार्टी को मुलायम के गढ़ में एक ऐसा यादव नेता चाहिए, जो पूरी यादव बिरादरी को तो नहीं, लेकिन बड़ी संख्या में उनके वोट बटोर सके। इस लिहाज से शिवपाल यादव बीजेपी के लिए मनमाफिक चेहरा हो सकते है। हालांकि शिवपाल यादव भी बिहार के नेता लालू प्रसाद यादव के चचेरे भाई राम कृपाल यादव की ही तर्ज पर रिश्तों और परिवार के बंधन को किनारे करके भाजपा में शामिल हो सकते हैं ।

यूपी विधानसभा चुनाव में सपा की हार का ठीकरा मुलायम, अपर्णा के बाद शिवपाल ने अखिलेश यादव पर फोड़ा था। बीजेपी सरकार बनने के बाद पहले अपर्णा ने और अब शिवपाल यादव ने योगी से मुलाकात की है। ऐसे में माना जा सकता है कि ये सब सिर्फ अखिलेश यादव को नीचा दिखाने के लिए किया जा रहा है।

Loading...