भ्रष्टाचार प्रेमी भाजपा – 200 करोड़ के भ्रष्टाचार का खुलासा करने वाली IAS का शिवराज ने किया ट्रांसफर !

0
96
Loading...

भाजपा विधायक के सैकड़ों करोड़ के हवाला कारोबार का खुलासा करने वाले एसपी गौरव तिवारी को हटाने के बाद एक बार फिर भाजपा की शिवराज सरकार भ्रष्टाचारियों की हिमायती नजर आ रही है। अब एक और तेजतर्रार आईएएस को ईमानदारी की सजा दे दी।

भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की बात करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सिपेहसालार भ्रष्टाचार के कीर्तिमान गढ़ते जा रहे हैं और जो इन भ्रष्टाचारों का खुलासा करता है या तो मौत के घाट उतार दिया जाता या फिर ससपेंड कर दिया जाता। हजारों करोड़ का व्यापम होटल करने के बाद भी शिवराज सरकार भ्रष्टाचारियों को बचाती हुई नजर आ रही है।

मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसी ऐसे ईमानदार अफसर को कतई बर्दास्त नहीं कर पा रहे हैं जो भाजपा के मंत्रियों या विधायकों और बड़े नेताओं का भ्र्ष्टाचार उजागर कर रहा हो। शिवराज सिंह चौहान अपने राज मे एक-एक कर उन सभी अफसरों को हटा दे रहे जो ईमानदारी से काम करे हुए सरकार के घोटाले उजागर कर कार्रवाई की कोशिश करते हैं।

शिवराज ने पार्टी नेता के दबाव में भोपाल नगर निगम की कमिश्नर छवि भारद्वाज का तबादला कर दिया है। जिसके बाद मध्य प्रदेश की सियासत गरमा गई है। युवा आईएस छवि भारद्वाज की छवि तेजतर्रार अफसर की है। मगर उन्हें शिवराज सरकार में ईमानदारी की सजा मिली है।

मध्य प्रदेश के भोपाल नगर निगम में कमिश्नर छवि भारद्वाज ने दो सौ करोड़ रुपये का घोटाला पकड़ा था। जिसे भाजपा के महापौर आलोक शर्मा दबाना चाहते थे। यह घोटाला नगर निगम के वाहन वर्कशॉप, स्मार्ट पार्किंग और होर्डिंग्स के ठेके से जुड़ा था। मगर छवि भारद्वाज कार्रवाई को रोकने के पक्ष में नहीं थी। इस घोटाले का खुलासा करने वाली आईएएस की मेयर ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से शिकायत की।

जिसके बाद शिवराज सरकार ने भोपाल नगर निगम कमिश्नर छवि भारद्वाज को हटा दिया है, उनके स्थान पर टीकमगढ़ कलेक्टर प्रियंका दास को नगर निगम का नया कमिश्नर बनाया गया है। छवि भारद्वाज को अब पर्यटन विकास निगम में बतौर प्रबंध संचालक की नियुक्ति दी गई है। इसके शनिवार को देर शाम आदेश जारी कर दिए गए। इस ट्रांसफर को रूटीन प्रक्रिया दिखते हुए चार आईएएस अफसरों के भी ट्रांसफर किए गए हैं।

नगर निगम कमिश्नर छवि भारद्वाज को हटाए जाने पर विपक्षी दल कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोला है। कांग्रेस नेता अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं, लेकिन उनकी कथनी और करनी में अंतर एक बार फिर सामने आया है।

उन्होंने कहा भोपाल नगर निगम की वाहन शाखा में 200 करोड़ रुपये का घोटाला सामने लाने वाली आयुक्त छवि भारद्वाज को अचानक छुट्टी के दिन हटाना इस बात का प्रमाण है कि इस घोटाले में शामिल लोगों को मुख्यमंत्री बचाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि चाहे कटनी के पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी हों या सतना नगर-निगम के आयुक्त कथूरिया की पोस्टिंग हो, इन दोनों ईमानदार अफसरों को पहले भी हटाकर सीएम शिवराज ने संदेश दिया है कि वह भ्रष्टाचारियों का समर्थऩ करते हैं।

इससे पहले कटनी के एसपी गौरव तिवारी को सौ करोड़ का हवाला कारोबार एक्सपोज करने पर शिवराज ने हटाया तो जनता भी सड़क पर उतर पड़ी थी। इस हवाला कारोबार के तार बीजेपी विधायक से जुड़े थे जिसके दबाव में ही एसपी गौरव तिवारी को हटाया गया था।

Loading...