कानपुर देहात की नयी हवाई पट्टी पर दौड़ा जहाज, जनता बोली पूर्व CM अखिलेश यादव का विकास बोलता है !

0
4

 

शिवली : यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का किया हुआ एक और विकास कार्य अब बोलने लगा है या ये कहें कि “काम बोलता है“। कानपुर देहात में शिवली का मरहमताबाद गांव सपा सांसद डिम्पल यादव के संसदीय क्षेत्र कन्नौज का हिस्सा है, इसी संसदीय क्षेत्र से ही अखिलेश यादव भी पहली बार 1999 में सांसद का चुनाव जीत कर लोकसभा पहुँचे थे। कन्नौज क्षेत्र से पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को हमेशा से लगाव रहा है, इसीलिए उन्होंने इस क्षेत्र को विकसित करने के लिए साल 2014 में हवाई पट्टी की योजना मंजूर कराई थी। शुरुआत में योजना पर तेजी से काम चला, बीच मे थोड़े अवरोध आए। हालाँकि प्रदेश में सरकार बदलने के बाद से समय पर फंडिंग नहीं होने के कारण प्रशासनिक भवन और टॉवर अब तक नहीं बन सका, किन्तु रनवे पूरी तरह बनकर तैयार होने के साथ चालू हालत में है।

अखिलेश यादव ने हवाई अड्डे के लिए इस जगह को इसलिए चुना क्योंकि यह जगह कन्नौज, कानपुर देहात, कानपुर नगर, फरुखाबाद,एटा, मैनपुरी, औरैया आदि जिलों के लोगों के लिए सुविधाजनक है। अभी तक इन सभी जिलों के लोगों को लखनऊ हवाई अड्डे जाना पड़ता था, जिसकी दूरी काफी ज्यादा हो जाती थी। यूँ तो कानपुर नगर में भी हवाई अड्डा है, पर जगह छोटी होने और रनवे के छोटा होने के कारण विमान कंपनियां यहाँ से उड़ान भरने में सहज महसूस नहीं करती हैं। इसीलिए अखिलेश यादव जी ने जनता की तकलीफों को समझते हुए उन्हें हवाई अड्डे की बड़ी सौगात दी थी।

पिछले 4 सालों से बन रहे मरहमताबाद हवाईपट्टी के जल्द संचालन की आस शुक्रवार को उस समय जगी, जब लखनऊ से डिप्टी डाइरेक्टर की अगुवाई में आए तकनीकी दल ने रनवे पर हवाई जहाज की लैंडिंग कराई। हवाई पट्टी पर करीब आधे घंटे तक जहाज का मूवमेंट कराया गया। विमानन विभाग के अफसरों ने हवाई पट्टी के संचालन के सम्बंध में किसी तरह की जानकारी नहीं दी मगर चर्चा रही कि रूटीन फ्लाइट के अलावा आकस्मिक स्थितियों को लेकर ट्रायल किया गया है।

शुक्रवार को लखनऊ से आए विमानन विभाग की टीम ने रनवे की जांच की, उस पर जहाज दौड़ाया। ट्रायल के बारे में पहले से किसी को नहीं बताया गया। गुरुवार शाम ही डीएम के पास इसकी जानकारी आई थी, इस पर एडीएम शिवशंकर गुप्ता मौके पर पहुंच गए थे। रनवे पर विमान करीब आधे घण्टे रुका। इस दौरान उसे पूरे रन वे पर घुमा कर देखा गया। कब संचालन शुरू हो सकेगा, इस बारे में डिप्टी डाइरेक्टर ने कुछ नहीं बताया। उन्होंने कहा कि तकनीकी रूप से जांचने को रनवे पर ट्रायल किया गया है। एक अधिकारी ने बताया कि ट्रायल में आपात स्थितियों की तैयारी भी शामिल थी। एडीएम ने बताया कि प्रशासनिक भवन जल्द तैयार करने का संकेत मिला है।

Loading...