भाजपा शाषित MP में दबंगों का कहर, सीमा पर तैनात जवान की जमीन पर किया कब्जा, परिवार ने छोड़ा गाँव

भाजपा शाषित MP में दबंगों का कहर, सीमा पर तैनात जवान की जमीन पर किया कब्जा, परिवार ने छोड़ा गाँव
loading...

शिवपुरी/मध्य प्रदेश, भाजपा शाषित मध्य प्रदेश में गरीब किसानों की जमीन पर कब्ज़ा करने वालों के हौसले बुलंद है न उन्हें पुलिस का डर है न ही प्रशासन का, दबंगों की दबंगई का आलम ये है कि गरीब किसानों की जमीन के अलावा वो सेना में कार्यरत जवानों की जमीन भी नहीं बक्श रहे हैं। आलम ये है कि लोग अपने गाँव घर छोड़कर किराये के मकानों में रहने के लिए मजबूर हैं।

शिवपुरी में जनसुनवाई के दौरान एक जवान का दर्द छलक आया। जहां सैनिक मातृभूमि की रक्षा में बॉर्डर पर तैनात रहा, वहीं उसके गृह जिले में उसकी ही जमीन उससे छीन ली गई। दरअसल, ये पूरा मामला जिले के पोहरी विकासखंड के नारैयाखेड़ी गांव का है, जहां रहने वाले नारायण दुबे आईटीबीपी (भारत तिब्बत सीमा पुलिस) में इंस्पेक्टर है।

कलेक्टर नीतू माथुर के सामने अपनी परेशानी बताते हुए नारायण दुबे ने कहा कि आईटीबीपी में होने के कारण वो पिछले काफी समय से बॉर्डर पर तैनात था। इस बीच दबंगों ने उसके परिजनों को डरा धमका कर उसकी 27-28 बीघा जमीन पर कब्जा कर लिया।

पीड़ित का कहना है कि अवैध कारोबार में लिप्त इन दबंगों से उनके परिजन इतने डर गए कि उन्होंने गांव ही छोड़ दिया। वो अब शिवपुरी में किराए के मकान में रहने को मजबूर हैं। नारायण दुबे ने आरोप लगाया कि इस मामले को प्रशासन ने गंभीरता से न लेते हुए उसे तहसीलदार के यहां जाने की नसीहत दे दी। वो पहले ही सम्बंधित थाने और एसपी कार्यालय में आवेदन कर चुका है, जहां उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई।

शिकायत सामने आने के बाद कलेक्टर नीतू माथुर ने नारायण दुबे को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है।

loading...

loading...