यूपी में अघोषित आपातकाल के हालात- PM मोदी के दौरे से पहले बिना कारण सपा यूथ अध्यक्ष गिरफ्तार !

0
1233
Loading...

 

लखनऊ : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21 और 22 जून को अपने 2 दिवसीय दौरे पर यूपी की राजधानी लखनऊ में ही रहेंगे,हाल ही में समाजवादी छात्र सभा के साथ अन्य छात्र संगठनों द्वारा मुख्यमंत्री योगी को काले झंडे दिखाए गए थे। गौरतलब है कि छात्र संगठन अपनी बात रखने के लिए कई बार CM योगी के पास गए किन्तु वह एक बार भी छात्रों से नहीं मिले,इसीलिए लखनऊ विश्वविद्यालय में CM योगी के कार्यक्रम में छात्रों ने उनका काफिला रोककर काले झंडे दिखाए और योगी सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाए। इन छात्रों को पुलिस ने पकड़कर योगी सरकार के दबाव में 120B जैसी कई संगीन धाराएं लगाते हुए जेल भेज दिया,इन छात्रों में कुछ महिला छात्राएं भी हैं।

छात्रों के द्वारा प्रधानमंत्री मोदी के सामने भी प्रदर्शन और काले झंडे दिखाए जाने की सम्भावना के चलते पुलिस ने सुरक्षा के मद्देनजर बिना किसी अपराध के ही समाजवादी छात्र सभा के प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह “देव” और उपाध्यक्ष मोनू दुबे को देर रात घर से हिरासत में ले लिया है,पुलिस के अनुसार इन युवकों पर पीएम को काले झंडे दिखाने का संदेह था। जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी के दौरे के दौरान कई छात्र संगठनों पर पुलिस की नजर है। इस दौरान पुलिस ने महानगर, हसनगंज, आशियाना इलाके में छापेमारी भी की।

दिग्विजय सिंह “देव” अपनी गिरफ्तारी पर बोले कि – भगत सिंह जी के द्वारा युवाओं में जगाई हुयी क्रान्ति से अंग्रेजी सरकार भी भयभीत हो गयी थी और अंत में उन्हें हमारा देश छोड़ कर जाना पड़ा,इसलिए मोदी-योगी सरकार देश के हम युवाओं और छात्रों को ना छेड़े नहीं तो युवाओं की क्रांति में यह सरकार भी हमेशा-हमेशा के लिए बह जायेगी।

एलआईयू ने पुलिस को उन 27 स्टूडेंट्स की लिस्ट दी थी जिनपर पीएम मोदी के कार्यक्रम में काले झंडे दिखाने और नारेबाजी करने की आशंका थी । पुलिस ने आपातकाल के हालातों की तरह जनता और छात्रों की आवाज दबाने के तरीके को अपनाते हुए सपा यूथ विंग से समाजवादी छात्र सभा के प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह “देव” और उपाध्यक्ष मोनू दुबे को संदेह के आधार पर देर रात कस्टडी में ले लिया। गौरतलब है कि एलआईयू की सूची में समाजवादी छात्र सभा के साथ AISA के छात्र भी शामिल हैं।

बता दें क‌ि लखनऊ यूनिवर्स‌िटी में सीएम योगी की विजिट के दौरान छात्रों द्वारा काले झंडे दिखाए जा चुके हैं। योगी सरकार और यूपी पुलिस पीएम मोदी के सामने इस बार कोई चूक नहीं करना चाहती है। हालाँकि छात्रों की आवाज को इस तरह दबाने से ये और भड़क सकती है,अब देखना ये होगा कि पीएम मोदी आपातकाल की तरह दमनचक्र वाली राजनीति को किस हद तक लेकर जाते हैं क्योंकि मीडिया को मोदी जी ने अपने हिसाब से ही चला रहे हैं इसी कारण आज अधिकतर मीडिया हाउस और अखबार वाले खबरें भी मोदी जी की इच्छा अनुसार ही चलते हैं और जो नहीं चलते वो NDTV की तरह शिकार किये जाते हैं।

 

Loading...