दूध न देने वाली बूढ़ी गायों को भाजपा नेताओं के घर बाँध आओ – लालू प्रसाद यादव

0
22
Loading...

पटना, राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने कहा कि भाजपा के लोग बूढी और दूध नहीं दे पाने वाली गायों की सही मायने में देखभाल करते हैं या नहीं, यह देखने के लिए उनके घरों के बाहर ऐसे मवेशियों को बांधे।

गुरुवार को राजद कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण सम्मेलन में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए लालू ने कहा, बीजेपी गौरक्षा का नारा लगाती है। आसपास जितनी बूढ़ी गायें हैं उन्हें अपने इलाक़े के भाजपा नेताओं के द्वार बांध दो। उन्होंने कहा कि, “वो लोग मारपीट करेंगे, करने दो, हम लोगों को शांत रहना है।

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा नेता और जो लोग आरएसएस से जुडे हैं वे गोरक्षा के नाम पर अल्पसंख्यक को निशाना बना रहे हैं। वे दूध के लिए नहीं बल्कि वोट के लिए ऐसा कर रहे हैं। बूढी और दूध नहीं देने वाली गायों को तलाशें और उनकी सही मायने में देखभाल करते हैं या नहीं यह देखने के लिए उसे उनके घरों के बाहर बांधे। लालू ने कहा कि उनके ऐसा करने पर भाजपा नेता उनकी पिटाई भी करेंगे पर उसे सहन करें तथा बदले की कार्रवाई नहीं करें। हम यह दिखाना चाहते हैं कि गाय की सेवा के लिए वे सही मायने में चिंतित हैं या नहीं।

लालू यादव ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के पूर्व 56 इंच सीना की बात करने वाले और सर्जिकल स्ट्राइक के लिए अपनी पीठ थपथपाने वाले प्रधानमंत्री को जवाब देना चाहिए कि किस प्रकार से भारत की सीमा में प्रवेश कर पाकिस्तानी सेना हमारे जवान का सिरकलम कर रहे हैं।

उन्होंने भाजपा पर आरोप लगते हुए कहा कि वह अब दलितों के नेता बी.आर. अंबेडकर की प्रतिमा पर फूल माला चढ़ाने की होड़ में लगी है, पर वंचित तबकों के उत्थान के लिए कुछ भी नहीं कर रही है। उन्होंने भाजपा और आरएसएस को सरकारी नौकरियों में आरक्षण को समाप्त करने की कोशिश में लगे होने का आरोप लगाते हुए शंकराचार्य के चार सीटों में से तीन सीटों के लिए कोटा की शुरुआत किए जाने की मांग की। राजद प्रमुख ने अपनी पार्टी के लोगों से महागठबंधन सरकार में किसी भी तरह के मतभेद पैदा करने वाली टिप्पणी से बचने की नसीहत देते हुए कहा कि जिस डाल पर बैठे हैं उसे ही नहीं काटें।

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी कार्यकर्त्ताआें को तैयार करने के लिए पिछले दो दिनों से जारी प्रशिक्षण शिविर के बाद राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आज संपन्न बैठक के दौरान कुल सात प्रस्ताव पारित किए गए जिसमें से एक न्यायिक सेवा में एससी और एसटी को आरक्षण दिये जाने की मांग शामिल है। इस बैठक में बिहार विधान परिषद में राजद विधायक दल की नेता राबडी देवी, पार्टी उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, उनके भाई तेज प्रताप यादव, राज्यसभा सदस्या मीसा भारती और पार्टी प्रवक्ता मनोज झा सहित पार्टी के कई अन्य नेता मौजूद थे।