PM मोदी के 2019 मिशन के लिए, खतरा बनने वाले लालू-अखिलेश समेत सभी लोगों के पीछे CBI-IT का पहरा !

0
1020

 

पटना : मोदी सरकार का सारा सरकारी अमला आज कल सिर्फ उन नेताओं और मीडिया के पीछे पड़ा हुआ है जो PM मोदी के 2019 मिशन के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं,इसी के चलते योगी सरकार ने अखिलेश की साफ़ छवि को घेरने के लिए उनके ड्रीम प्रोजेक्ट्स की जांच के लिए CBI जांच का आदेश दिया,जिसे CBI ने तत्काल मानते हुए अपनी जांच भी शुरू कर दी।

वहीँ बिहार में मोदी जी की CBI,IT और ED ने अपना पूरा ध्यान सिर्फ लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर लगा रखा है, हर छोटे लेन-देन और मुद्दे को बड़ा बता कर पेड मीडिया के द्वारा पेश किया जा रहा हैं तथा मोदी सरकार अपने इन पैतरों से लालू यादव को मानसिक रूप से तोड़ कर कमजोर करने की पूरी कोशिश में है । गौरतलब है कि मोदी जी ने अब तक भाजपा के किसी भी बड़े नेता की संपत्ति की जांच के आदेश अपने 3 साल के कार्यकाल के दौरान नहीं दिया है।

आयकर विभाग ने राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव के परिवार पर बड़ी कार्रवाई की है। आयकर विभाग ने बेनामी संपत्ति के मामले में मीसा भारती के साथ ही पूरे परिवार को लपेटते हुए करोड़ों की संपत्ति अटैच कर दी। आयकर विभाग ने मीसा भारती को पूछताछ के लिए भी बुलाया था, पर वो नहीं पहुंची थी। इसके बाद आयकर विभाग ने पौने दो सौ करोड़ की संपत्तियों को मामले से अटैच कर सीज कर दिया है। हालांकि बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने पूरे मामले को राजनीति से प्रेरित बताया है।

आयकर विभाग की जांच के दायरे में राबड़ी देवी भी आ चुकी हैं। आयकर विभाग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 12 प्लाटों को अटैच किया है। ये प्लाट मीसा भारती, उनके पति शैलेश कुमार, बहन रागिनी चंदा, बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के साथ ही बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के नाम पर हैं। आयकर विभाग ने सभी के खिलाफ केस भी दर्ज किया है। आयकर विभाग ने चैप्टर 4 के तहत नोटिस भी जारी किया है।

Loading...