योगी के “ठाकुरवाद” में ब्राह्मण बेहाल, ‘सेंगर’ ने चौकी के अंदर कांस्टेबल दुर्गेश तिवारी को गोली से उड़ाया !

0
8

 

फतेहपुर : यूपी में बढ़ते अपराधों से जहाँ जनता बेहाल है, वहीँ अब पुलिस भी हत्या करने लगी है। यूपी में लगातार हो रही घटनाओं में एक ही जाती के लोगों का नाम आने से जनता अब “ठाकुरवाद का आतंक” जैसे शब्द बोलने लगी है। बता दें कि जहाँ एक तरफ भाजपा विधायक ठाकुर कुलदीप सिंह सेंगर के कारनामों से योगी सरकार फजीहत झेल रही है वहीँ दूसरी ओर फतेहपुर में एक मामूली विवाद में पुलिस चौकी के अंदर शनिवार की रात साढ़े 11 बजे चौकी इंचार्ज ‘ठाकुर लक्ष्मीकांत सेंगर’ उर्फ कुंवर बेधड़क ने हेड कांस्टेबल दुर्गेश तिवारी को अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली से उड़ा दिया जिससे उसकी मौत हो गयी । हेड कांस्टेबल के बेटे की तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर चौकी इंचार्ज को गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने चौकी इंचार्ज को सस्पेंड भी कर दिया है। घटना के पीछे एक शिक्षक के नशे में होने पर उसे चौकी में पीटने और मना करने के बाद भी चालान के लिए थाने ले जाने की कोशिश बताई जा रही है।

जालौन निवासी लक्ष्मीकांत सेंगर उर्फ कुंवर बेधड़क को दो माह पहले किशनपुर थाना क्षेत्र के विजयीपुर पुलिस चौकी का इंचार्ज बनाया गया था। इसी चौकी में दो साल से इलाहाबाद जिले के लालापुर थाना क्षेत्र के तरहर गांव (ओड़गी) निवासी हेड कांस्टेबल दुर्गेश तिवारी (52) पुत्र कैलाश नाथ तिवारी भी तैनात था। शनिवार की रात सवा 11 बजे चौकी के पास जूस की दुकान में इलाहाबाद जिले के फाफामऊ केंद्रीय स्कूल में तैनात और जिले के धाता निवासी टीचर दुर्गा प्रसाद सोनकर शराब पीने के लिए गिलास मांग रहे थे। वह पहले से भी नशे में थे। दुकानदार ने गिलास देने पर मना कर दिया। इस पर नशे में दुर्गा प्रसाद पुलिस चौकी पहुंच गए। चौकी के अंदर उनका पुलिसकर्मियों से विवाद होने लगा। पुलिसकर्मियों ने टीचर को कई थप्पड़ भी जड़े। हंगामा सुन चौकी इंचार्ज लक्ष्मीकांत सेंगर कमरे से दफ्तर में पहुंचे।

चौकी इंचार्ज नशे में धुत टीचर का मोबाइल पर वीडियो बनाने लगे। इसी दौरान हेड कांस्टेबल दुर्गेश तिवारी और उसके साथी टीचर को पीटने लगे। चौकी में घुसकर अभद्रता के आरोप में दुर्गेश टीचर का चालान कराने थाने ले जाने लगा। इस पर चौकी इंचार्ज के रोकने पर दोनों के बीच विवाद शुरू हो गया। बात इतनी बढ़ी कि चौकी इंचार्ज ने सर्विस रिवाल्वर निकाल कर हेड कांस्टेबल पर गोली चला दी, जो सीने में बाईं तरफ लगी। इसके बाद चौकी इंचार्ज खुद पुलिसकर्मियों के साथ घायल हेड कांस्टेबल को लेकर सीएचसी पहुंचे। यहां से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल पहुंचने पर हेड कांस्टेबल को मृत घोषित कर दिया गया। हेड कांस्टेबल के बेटे रत्नेश ने चौकी इंचार्ज पर पिता की गोली मारकर हत्या करने की तहरीर दी है।

इस बाबत आईजी रमित शर्मा ने बताया कि हेड कांस्टेबल के बेटे रत्नेश की तहरीर पर आरोपी दरोगा के खिलाफ हत्या, जानमाल की धमकी देने की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। मामले की विभागीय जांच भी शुरू कर दी गई है।

Loading...