बंगाल निकाय चुनाव में ममता का जादू बरकरार, अमित शाह का प्रचार भी BJP के काम नहीं आया

0
141

लखनऊ, पश्चिम बंगाल में दीदी यानि ममता बनर्जी की लहर बरकरार है। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने सात में से चार नगरपालिकाओं में जीत हासिल की है। टीएमसी ने पुजाली, मिरिक, रायगंज और दोमकल में जीत दर्ज की है। तो वहीं दार्जलिंग, कुर्सियांग और कलिम्पोंग में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) ने जीत हासिल की है।

मिरिक नगरपालिका में टीएमसी ने 9 में से 6 वॉर्ड अपने नाम कर जीत हासिल की है। वहीं, गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) को तीन वॉर्ड मिले हैं। आपको बता दें कि 14 मई को हुए मतदान में कुल 68 प्रतिशत मतदान हुआ था। सातों निकायों में से पुजाली में सबसे ज्यादा 79.6 प्रतिशत और दार्जलिंग में सबसे कम 52 प्रतिशत मतदान हुआ था।

मुर्शिदाबाद जिले की दोमकल नगर निगम में टीएमसी ने 21 में से 18 सीटों पर जीत हासिल की है। इसके अलावा यहां पर कांग्रेस पार्टी के हाथ सिर्फ एक सीट ही आई जबकि सीपीआई (एम) को महज दो सीटों पर जीत मिली है।

रायगंज में 27 वॉर्ड में से टीएमसी को 14 वार्ड में जीत मिली है। यहाँ सीपीआईएम-कांग्रेस के खाते में 2 और बीजेपी के खाते मे एक वॉर्ड आया है। पुजाली में ममता बनर्जी की पार्टी को 16 में से 12 वॉर्ड और बीजेपी, सीपीआईएम को एक-एक वॉर्ड मिला है।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार 7 म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन की 148 सीट में से जीजेएम ने सबसे ज्यादा 69 सीटें जीतीं। इसमें जीजेएम 69 और बीजेपी को 3 सीट मिली है। टीएमसी को 68, कांग्रेस और लेफ्ट को 4, जन अधिकार पार्टी को 2 और अन्य को 1 सीट पर जीत मिली है।

बंगाल निकाय चुनाव में बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के प्रचार करने के बावजूद 3 सीट ही मिल पाई है। जबकि उसकी सहयोगी जीजेएम को 69 सीट मिली है।