नोट बंदी से हुई मौतों पर भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का बयान, ‘मरने वाले तो राशन की लाइन में भी मर सकते हैं’

0
60
Loading...

भोपाल, नोटबंदी के बाद आयी कैश की भारी समस्या के कारण 16 से ज्यादा लोगों के मौत की खबर है वहीँ भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व मध्यप्रदेश के पार्टी प्रभारी डॉ विनय सहस्त्रबुद्धे ने एक ऐसा बयान दिया है जिसकी भारी आलोचना हो रही है। मीडिया ने उनसे जब नोट पाने के लिए लाइन में लगे व्यक्ति की मौत के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि लोग तो राशन के लिए भी लाइन में लगने पर मर सकते हैं।

विनय सहस्त्रबुद्धे भाजपा नेता व मंत्री नरोत्तम मंत्री के घर पर पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जनता सत्याग्रही के रूप में थोड़ा कष्ट सहे। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि वे जनता की मदद करें। उन्होंने कहा कि लोग बहुत हड़बड़ी में हैं। लोग आराम से अपना काम करवायें।

bjp-vice-precident

पिछले दिनों मध्यप्रदेश के सागर में 69 साल के रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी विनय पांडेय पैसे के लिए लाइन में खड़े थे, उसी दौरान वे गिर पड़े थे। बाद में उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गयी। अब तक देश के अलग-अलग हिस्सों से आयी खबर के अनुसार, तीन लोगों की मौत नोट पाने के लिए लाइन में लगने से उत्पन्न परिस्थितियों में हुई।

Loading...