EVM पर क्यों न किया जाए शक ? द्वारका के EVM से वोट पड़े 496 गिनती में निकले 536 वोट, EC खामोश !

0
3

नई दिल्ली, हाल ही में संपन्न हुए गुजरात विधानसभा चुनाव में EVM का इस्तेमाल किया गया था जिसको लेकर एकबार फिर से शक पैदा हो गया है। गुजरात में कई सीटों पर जीत का अंतर 150 वोटों से लेकर 1500 तक रहा। पर अब जो खबर आ रही है उससे EVM की विश्वसनीयता पर एकबार फिर से सवाल खड़े हो गए हैं। पर चुनाव आयोग है कि षरतराष्ट्रा बना बैठा हुआ है।

जानकारी के अनुसार द्वारका की 82 विधानसभा के एक बूथ पर EVM में 496 वोट डाले गए थे। पर EVM की गिनती होने पर इसमें से 536 वोट निकले। कांग्रेस ने EVM और वोट में गड़बड़ी होने की इलेक्शन कमीशन से शिकायत की है।

इस बूथ पर डाले गए कुल वोटों से 40 वोट ज्यादा निकले ऐसे में EVM पर कैसे यकीन किया जा सकता है। लेकिन चुनाव आयोग किसी भी कीमत पर ये मानने को तैयार नहीं है कि EVM से छेड़छाड़ संभव है। जब EVM में पड़े वोटों से ज्यादा वोट निकल रहे हैं तो ये बिना छेड़छाड़ के तो संभव नहीं है। ऐसे में चुनाव आयोग को आगे आना चाहिए और EVM को लेकर उठ रहे सवाल पर जवाब देना चाहिए।

जब VVPAT पर्ची की गिनती की मांग की गयी तो उस समय भी चुनाव आयोग ने इसे नकार दिया और VVPAT की पर्चियों का भी मिलान नहीं किया गया इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने भी अपने हाथ पीछे खींच लिए। EVM की गिनती पर ज्यादा वोट निकलने पर पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने एकबार फिर EVM को लेकर ट्वीट करते हुए कहा कि, “सिर्फ़ द्वारका में नहीं सूरत और अहमदाबाद में भी यही हुवा हैं।”

Loading...