योगी सरकार का ‘सुहाग’ के सामान में घोटाला,दुल्हनों को ‘चांदी’ की जगह दी ‘लोहे’ की बिछिया व पायल !

0
2

औरैया : यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को उनके अधिकारी भी गंभीरता से नहीं ले रहे हैं,यही वजह है कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत हुई शादियों में योगी सरकार के अधिकारियों ने दुल्हनों को लोहे की बिछिया एवं पायल बांट दिए । करीब सप्ताहभर बाद इसके रंग हल्के पड़ने पर दुल्हनों ने सुनार से चेक कराया तो इस सरकारी धांधली का खुलासा हुआ। भ्रष्टाचार के इस बड़े मामले में जिलाधिकारी ने जांच के आदेश दिए हैं।

बता दें कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत 18 फरवरी को सामूहिक विवाह हुआ था। इसमें 48 जोड़े की शादी हुई थी। इस दौरान जिला प्रशासन ने बैंड बाजा बजवाकर शासन की तरफ से दी जाने वाली मदद में से इज्जत घर और गिफ्ट में पायल, बिछिया व अन्य सामान दिया था। सप्ताहभर बाद पायल व बिछिया के रंग फीके पड़ने लगे और सरकार का सुहाग के सामान “पायल व बिछिया” वितरण में किया गया घोटाला सामने आ गया।

इस पर दुल्हनों ने उसे सुनार को दिखाया। सुनार ने चांदी के बजाय लोहे के होने की जानकारी दी तो उनके होश उड़ गए। मंगलवार को नवविवाहिता रचना कुमारी, सरबिन, पिंकी, सत्यवती, यास्मीन बानों, नीरज, कुसुमलता आदि कलक्ट्रेट पहुंची। इन लोगों ने डीएम को पायल व बिछिया नकली होने की जानकारी दी। डीएम ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। जिलाधिकारी श्रीकांत मिश्रा बोले – शिकायत मिली है। समाज कल्याण अधिकारी को जांच के आदेश दिए गए हैं। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

वहीँ इस प्रकरण पर जिला समाज कल्याण अधिकारी ‘विनीत तिवारी’ का कहना है कि – ई टेंडरिंग के जरिए इटावा की एक फर्म ने 10 हजार रुपये में पायल, बिछिया, बर्तन, डिनर सेट व लंहगा चुनरी तथा बक्सा खरीदा गया था। इसे दुल्हनों को गिफ्ट किया गया था। संबंधित फर्म से बिछिया व पायल चांदी की देने की बात हुई थी। शिकायत करने आई महिलाओं से पायल व बिछिया जमा करा ली गई है। इसकी जांच कराई जा रही है। यदि शिकायत सही पाई गई तो संबंधित फर्म को ब्लैक लिस्टेड कर भुगतान पर रोक लगाई जाएगी ।

Loading...