जौनपुर- भाजपा के इशारे पर योगी की पुलिस यादवों पर बरपा रही कहर, देखें ये रिपोर्ट !

0
27

जौनपुर, उत्तर प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद से जाति विशेष (यादवों) को टारगेट किया जा रहा है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यादव सरनेम वाले अधिकारीयों के तबादले किए और ससपेंड किए जिसका एक अधिकारी ने विरोध किया तो उसे 7 महीने के लिए ससपेंड कर दिया। प्रदेश की सत्ता में काबिज होने के बाद से भाजपा नेताओं द्वारा जिलों में जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख पदों पर अपने आदमियों को सेट करने के लिए अविश्वास प्रस्ताव का जो खेल खेला उसमें उसने सत्ता का भरपूर प्रयोग किया।

जौनपुर के खुटहन ब्लॉक में निकाय चुनाव के दौरान जब धारा 144 लगी हुई थी उसी दौरान प्रतापगढ़ के भाजपा समर्थित सांसद हरिवंश सिंह ने अपने गुर्गों के साथ बन्दूक के बल पर ग्राम पंचायत सदस्यों को जबरन बंदी बनाकर अविश्वास प्रस्ताव पास कराया इस दौरान भाजपा सांसद और उसके गुंडों में सपा के पूर्व मंत्री और विधायक शैलेन्द्र यादव ‘ललई’ पर जानलेवा हमला करवाया और सत्ता के दबाव में प्रशासन के सहयोग से ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास करवा लिया।

खुटहन ब्लाक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के दौरान हुये बवाल मे भाजपा नेताओं के इशारे पर यहां की पुलिस ने राजनीतिक द्वेष के कारण यादव समाज के लोगो को बड़ी संख्या मे शमिल कर लिया है और अज्ञात के साथ साथ नामजद भी कर लिया है। लोगो के घरो पर सरपतहा तथा खुटहन, शाहगंज पुलिस आधी रात को जमकर छापेमारी कर रही है। जिससे क्षेत्र मे दशहत का माहौल हो गया। कई निर्दोष, बेगुनाहो, गरीबो को फँसा दिया गया है। जिससे परिवार वालो का रो रो कर बुरा हाल हो रहा है। आज की रात कपसिया गाँव मे पुलिस ने दबिश देकर राजेंद्र यादव को उठा लिया, जिसे शाहगंज कोतवाली लाया गया। पुलिस के तांडव फिर से मामलें को गर्मी दे रही है। जिससे लोगो मे बेहद आक्रोश दिखायी दे रहा है। शेरपुर के ग्राम प्रधान अखंड यादव के घर पुलिसया तांडव हुआ। उस समय अखंड यादव घर पर मौजद नही थे।

छह नवंबर को अविश्वास प्रस्ताव के दौरान जमकर फायरिंग, पथराव हुआ था। इस मामले में सांसद प्रतापगढ़ हरिवंश सिंह ने ही अपने दल बल प्रसाशन की मदद से पूरा चक्रव्यूह रचा था। खुहटन गांव में पुलिस का तांडव जारी है। लोग घर छोड़कर फरार हो गए हैं, गांव में केवल महिलाएं हैं। फोर्स गांव में गश्त कर रही है। लोगों में इस बात का आक्रोश है कि निर्दोष लोगों को जेल भेजा जा रहा है। कपसिया के राजेंद्र यादव को पुलिस ने गिरफ्तार किया। श्रवण यादव रात मे पुलिस के डर से छत से कूद गये जिससे पैर टूट गया।

पूर्व मंत्री वर्तमान विधायक ललई यादव ने कहा बेगुनाहों को परेशान ना किया जाये। उन्होंने कहा कि ब्लाक मुख्यालय पर जो भी हुआ वह लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है। सत्ता के दबाव को बेगुनाहो पर कार्रवाई करना कहा का न्याय है। युवकों को फर्जी फंसा कर उन्हें जरायम की दुनिया में न धकेला जाए। उन्होंने कहा कि पुलिस की एक भूल किसी शरीफ युवक का भविष्य बिगाड़ रही है। फर्जी मामले में जेल की सजा भुगतने के बाद पीड़ित के अंदर अपराध के भाव खुद आने लगता है। घटना की बारीकी से जांच कर दोषियों के खिलाफ ही कार्रवाई की जाए।

Loading...